“अपने अन्दर छुपी प्रतिभा को पहचाने और अपनी प्रतिभा और रूचि के अनुसार अपना लक्ष्य बनायें और पूरी ईमानदारी और लगन के साथ धैर्यपूर्वक अपने लक्ष्य की और बढ़ते रहें |

कितने भी मुश्किल से मुश्किल हालात हों, कितनी भी विपरीत परिस्तिथियाँ हो, कभी हिम्मत ना हारे, अपने आपको कभी कमजोर ना पड़ने दे, नकारात्मकता को अपने ऊपर हावी ना होने दें,

उम्मीदों का दिया हमेशा जलाकर रखे, अपनी पूरी ताकत और सकारात्मक सोच के साथ दृढ़तापूर्वक प्रयास करते रहें, एक दिन आप देखेंगे कि आपने अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है और आप जीत गए हैं | “

पुष्पेन्द्र कुमार सिंह

ध्यान रखें :-

“विपरीत परिस्तिथियों में कुछ लोग टूट जाते हैं,
और कुछ लोग रिकॉर्ड तोड़ देते है,”

 


 

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*