रास्ते का पत्थर

August 13, 2015 Pushpendra Kumar Singh 1

रास्ते का पत्थर

बहुत पुरानी बात है, एक बार एक राजा ने अपने राज्य के मुख्य मार्ग पर बीचों-बीच एक बड़ा पत्थर रखवा दिया। वह एक पेड़ के पीछे छुपकर यह देखने लगा कि कोई उस पत्थर को हटाता है या नहीं। [Read More…]

एक ग्लास दूध

August 13, 2015 Pushpendra Kumar Singh 0

एक ग्लास दूध

हॉवर्ड केली नामक एक गरीब लड़का घर-घर जाकर सामान बेचा करता था ताकि वह अपने स्कूल की फीस जमा कर सके। एक दिन उसे बेहद भूख लगी लेकिन उसके पास सिर्फ़ पचास पैसे थे। [Read More…]

दो नगीने

August 13, 2015 Pushpendra Kumar Singh 0

दो नगीने

किसी शहर में एक रब्बाई (यहूदी पुजारी) अपनी गुणवती पत्नी और दो प्यारे बच्चों के साथ रहता था| एक बार उसे किसी काम से बहुत दिनों के लिए शहर से बाहर जाना पड़ा|
[Read More…]

चार पत्नियाँ

August 13, 2015 Pushpendra Kumar Singh 0

चार पत्नियाँ

एक धनी व्यापारी की चार पत्नियाँ थीं। वह अपनी चौथी पत्नी से सबसे अधिक प्रेम करता था और उसकी सुख-सुविधाओं में उसने कोई कसर नहीं छोड़ी थी। [Read More…]

दो फ़रिश्ते

August 13, 2015 Pushpendra Kumar Singh 0

दो फ़रिश्ते

दो फ़रिश्ते दुनिया में घूम रहे थे | एक दिन वे एक धनी परिवार के घर में रात गुजरने के लिए रुक गए। [Read More…]

सफलता का रहस्य

July 16, 2015 Pushpendra Kumar Singh 0

एक बार एक नौजवान लड़के ने सुकरात से पूछा कि सफलता का रहस्य क्या है? सुकरात ने उस लड़के से कहा कि तुम कल मुझे नदी के किनारे मिलो| वो [Read More…]

बाड़े की कील

July 16, 2015 Pushpendra Kumar Singh 0

बहुत समय पहले की बात है, एक गाँव में एक लड़का रहता था | वह बहुत ही गुस्सैल था, छोटी-छोटी बात पर अपना आपा खो बैठता था और लोगों को [Read More…]