कवर लेटर क्या है और ये Job के लिये क्यों जरुरी है?

If you like this article, Please Share it on
  • 11
    Shares

कवर लेटर क्या है और ये Job के लिये क्यों जरुरी है? (what is cover letter & why it is required  for the job?)

जिस तरह से किसी नौकरी  के लिये Interview call पाने के लिये एक आकर्षक रिज्यूमे की जरूरत होती है। उसी तरह एक रिज्यूमे को पढ़ने के लिये एक cover letter की जरूरत होती है। कवर लेटर? ये क्या होता है? इस आर्टिकल को पढ़ रहे बहुत से बहुत से लोगोन के मन में यही सवाल होगा। बहुत से लोग कवर लेटर के बारे में बिल्कुल भी नही जानते होंगे। और अगर कुछ जानते भी हैं तो उन्होंने इसे कभी seriously नही लिया होगा।

जब भी किसी कम्पनी में कोई vacancy निकलती  है तो interested candidate उस job के लिये apply करते हैं या उस कम्पनी के HR manager को अपना रिज्यूमे या CV भेज देते हैं। लेकिन बहुत कम लोग ये जानते हैं कि किसी भी job के लिये apply करने के लिये रिज्यूमे या CV के साथ cover letter भी भेजा जाता है।

what is cover letter

एक सर्वे के मुताबिक लगभग 87% कम्पनियां (Employers) candidates द्वारा रिज्यूमे के साथ cover letter भी भेजें जाने के पक्ष में थीं । मतलब ज्यादातर कंपनियाँ ये चाहती हैं कि candidates job के लिये रिज्यूमे के साथ cover letter भी भेजें।

इसे भी पढ़ें :-  रिज्यूमे क्या होता है? और क्यों जरुरी होता है?

तो ये cover letter क्या है? और ये क्यों जरुरी है? आज के इस आर्टिकल में मैं आपको इसके बारे में ही बताऊंगा।

कवर लेटर क्या होता है? (what is cover letter?)

कवर लेटर एक ऐसा document होता है जो job application के दौरान आपको employer के सामने प्रस्तुत (introduce) करता है। कवर लेटर इस बात पर focus करता है कि आप इस नौकरी के लिए क्यों उपयुक्त हैं? और आप उस कम्पनी के लिये क्या कर सकते हैं? कवर लेटर एक तरह से आपका advertisement है जो आपके अनुभव, योग्यता, क्षमताओं को employer के सामने बेचता है। एक आकर्षक कवर लेटर recruiter को आपका रिज्यूमे पढने पर मजबूर करता है।

कवर लेटर एक तरह से एक Movie teaser की तरह काम करता है। जैसे किसी फिल्म का teaser दर्शकों को फिल्म देखने के लिये आकर्षित करता है। वैसे ही कवर लेटर employer को रिज्यूमे पढने के लिए आकर्षित करता है। कवर लेटर employer को ये बताता है कि वह आपके रिज्यूमे को पढने के लिये अपना समय खर्च क्यों करे?

इसे भी पढ़ें :-  Curriculum vitae क्या होता है और ये कहाँ जरुरी होता है?

कवर लेटर एक single page का ऐसा document होता है जो आपके job पाने के chances बढ़ा देता है। ये recruiter को बताता है कि भीड़ भरे बाजार में आप दूसरों से अलग क्यों हैं। यह employer के सामने आपके अनुभव, उपलब्धियों, और योग्यताओं की ऐसी पृष्ठभूमि बनाता है जो उसे ये निर्णय लेने में मदद करती है कि आपको इंटरव्यू के लिए बुलाना है या नहीं।

कवर लेटर में उन जानकारियों का, उन उपलब्धियों का, उन अनुभवों का जिक्र होता है जो आपके रिज्यूमे में नहीं होते हैं। रिज्यूमे में आप अपनी योग्यताओं, क्षमताओं, अनुभवों व शैक्षणिक योग्यताओं के बारे में जानकारी देते हैं। जबकि कवर लेटर यह बताता है कि आपका अनुभव, योग्यता उस कम्पनी के लिये उस position के लिये कितनी उपयुक्त है। आप उस कम्पनी के लिये क्या कर सकते हैं? और आप उस कम्पनी में job क्यों करना चाहते हैं? कवर लेटर उस job position के लिये अनिवार्य योग्यताओं, skills से match करता हुआ होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें :-Resume और CV में क्या अन्तर है ?

कवर लेटर क्यों जरुरी है? (Why is a cover letter necessary?)

बिना कवर लेटर के Resume भेजने के बाद, आप सिर्फ और सिर्फ बड़े पैमाने पर ये भरोसा कर रहे होते हैं कि Hiring Manager आपको Interview के लिये बुलायेगा। जबकि वास्तव में हमेशा ऐसा नही होता। कवर लेटर आपके Interview call के chances बढ़ा देता है।

  1. कवर लेटर employer को यह बताता है कि आप क्या हो और कम्पनी के लिये क्यों उपयुक्त हो?
  2. यह आपकी क्षमताओं, योग्यताओं, अनुभव को Highlight करता है।
  3. यह आपकी waiting abitity को showcase करता है।
  4. यह बताता है कि आप उस job के लिये serious हो।
  5. यह बताता है कि आपने कम्पनी के बारे में काफी research की है और आप उस job के लिये दूसरों से ज्यादा उपयुक्त हो।

तो दोस्तों, ये ध्यान रखें कि अब रिज्यूमे के साथ कवर लेटर भी भेजना है।

 

Related Article :

 

 


“दोस्तों ,आपको ये  आर्टिकल कैसा लगा  , कृप्या कमेंट के माध्यम से  मुझे बताएं ………धन्यवाद”

“यदि आपके पास हिंदी में  कोई  Life Changing Article, Positive Thinking, Self Confidence, Personal Development,  Motivation , Health या  Relationship से  related कोई  story या जानकारी है  जिसे आप  इस  Blog पर  Publish कराना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो और  details के साथ  हमें  gyanversha1@gmail.com  पर  E-mail करें।

पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. ………………धन्यवाद् !”

—————————————————————————————————–

दोस्तों  मैं अपने रोजाना के कई घंटे इस ब्लॉग की पोस्ट लिखने में invest करता हूँ और ये ब्लॉग लोगो की सेवा के उद्देश्य से बनाया गया है ताकि इस पर ऐसी पोस्ट प्रकाशित की जाये जिससे लोगो को अपनी ज़िंदगी में आगे बढ़ने में मदद मिल सके, लोग निराशा से बाहर निकल सकें और अपनी जिंदगी को बेहतर बना सकें ……… अगर आपको मेरा ये काम और  ये ब्लॉग पसंद आता है और इस पर प्रकाशित पोस्ट आपके लिए लाभदायक है तो कृपया इसकी पोस्ट और इस ब्लॉग को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के साथ Share करें ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगो को इसका लाभ मिल सके………
और सभी नयी पोस्ट अपने Mail Box में प्राप्त करने के लिए कृपया इस ब्लॉग को Subscribe करें।

मुझसे  Facebook और  Twitter पर जुड़ने के लिए नीचे दिए गए  links पर  click करें………Thanks

Facebook ,   Twitter,  


 

 


If you like this article, Please Share it on
  • 11
    Shares
About Pushpendra Kumar Singh 163 Articles
Hi Guys, This is Pushpendra Kumar Singh behind this motivational blog. I founded this blog to share motivational articles on different categories to make a change in human livings. I love to serve the people and motivate them.I love to read and write motivational things................... More About Me .....................Follow me on social sites

8 Comments

5 Trackbacks / Pingbacks

  1. Curriculum vitae क्या होता है और ये कहाँ जरुरी होता है? | Gyan Versha
  2. Resume और CV में क्या अन्तर है ? | Gyan Versha
  3. Fresher या नये students को अच्छी नौकरी पाने के लिए 10 Tips | Gyan Versha
  4. ये 9 काम करें, जब आपकी नौकरी चली जाये | Gyan Versha
  5. रिज्यूमे क्या होता है? और क्यों जरुरी होता है? | Gyan Versha

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*